सियार सिंगी पर वशीकरण प्रयोग

सियार सिंगी सियार के नाक के ऊपर के बालो का एक गुच्छा होता है असल में या कोई सियार का सींग नहीं होता पर यह बाल  धीरेधीरे बड़े हो जाते हैं और कड़े हो जाते हैं और सिंग जैसे दिखने लगते हैं | इसी कारण इसे सियार सिंगी कहते हैं सियार सिंगी हजारों सियारो में से किसी एक के ही होती है अर्थात हम कह सकते हैं यह बहुत ही  दुर्लभ है|  सियार सिंगी बहुत ही चमत्कारी  एवं  सकारात्मक  ऊर्जा को प्रदान करने वाला होता है  या एक बहुत प्रबल  वशीकरण की छमता  से युक्त होता है| इसकी आराधना से  मनवांछित फलों की  प्राप्ति  एवं  सिद्धियों की  प्राप्ति  की जाती है इसे जो व्यक्ति इसे सिद्ध कर लेता है असीम सिद्धियों का स्वामी बन जाता है इसकी विधियां अत्यंत सरल एवं फल प्रदान करने वाली होती है|

सियार सिंगी साधना विधि

साधना करने के लिए सियार सिंगी के दो जोड़े ले इसे धनतेरस वाले दिन लेना चाहिए और लाल में बांधकर किसी एकांत जगह पर रख दे और रात्रि में पूजा आरंभ करें इसके लिए आप को स्वच्छ होकर स्नान कर लाल वस्त्र धारण कर एवं लाल आसन का उपयोग करना होगा और सियार सिंगी को गंगाजल से शुद्ध कर सरसों के तेल का दीपक जलाकर पूजा करते हुए चावल, लौंग( 5साबुत) एवं छोटी इलायची चढ़ाएं (5साबुत) और इक्कीस सौ बार मंत्रों का जाप करते हुए विधिपूर्वक साधना करें , मंत्रों की समाप्ति पर 2100 मंत्र पूर्ण होने पर  एक छोटा हवन कुंड बनाकर 21 आहुति गुगुल की दें इस तरह आपको साधना निरंतर दिवाली की रात्रि तक करनी है एवं दिवाली की रात्रि में पूजा के बाद सियारसिंगी के सामने 11000 बार इस मंत्र का जाप करें आपकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी|

मंत्र

चामुण्डायः नमः

सियार सिंगी वशीकरण विधि

यदि आप किसी कार्य से जा रहे हो और किसी को अपने अनुकूल बनाना हो अर्थात उसे वश में करना हो उसके लिए  सियार सिंगी को किसी तांबे या चांदी से बनी डिब्बी में रख लें और उसमें मीठा सिंदूर पांच साबुत लौंग, पांच साबुत इलायची एवं एक छोटा टुकड़ा कपूर का डाल दें और डिब्बी को बंद कर दें इसके बाद आप जब भी किसी कार्य हेतु या किसी से अपनी बात की पूर्ति कराने लिए जाए तो उस डिब्बी  को अपनी जेब में रख लें और कार्य को करने से पहले डिब्बी को खोलकर उस व्यक्ति का नाम लेते हुए मंत्रों का 21 बार जप करें आपकी मनोकामना पूर्ण होगी एवं वह व्यक्ति आपके वश में जाएगा आपकी हर इच्छा की पूर्ति करेगा।

सियार सिंगी मंत्र

नमोहः भगवतेहः रुद्राणी चमुन्डानी घोराणी सर्व पुरुष क्षोभणी सर्व शत्रु विद्रावणी

आं क्रौम ह्रीं जों ह्रीं मोहयः मोहयः क्षोभयःक्षोभयः ममः वशी कुरुं वशी कुरुं क्रीं श्रीं ह्रीं क्रीं स्वाहः

शाबर मंत्र प्रयोग विधि

शाबर मंत्र के प्रयोग से हम किसी को भी अपने अनुकूल बना सकते हैं प्रेमीप्रेमिकाओं का मन बदला जा सकता है उन्हें विवाह के लिए राजी किया जा सकता है या बहुत प्रबल मंत्र होता है परिवार का कोई भी व्यक्ति अगर गलत रास्ते में है तो उस पर इस  मंत्र का प्रयोग कर उसके मन को बदल दिया जा सकता है पति पत्नी या परिवार में किसी भी सदस्य को अपने वश में कर  ग्रह कलेश को दूर किया जा सकता है।

सियार सिंगी विधि

आपको कि जिस किसी व्यक्ति को अपने वश में करना हो तो शुक्रवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर स्वच्छ हो कर लाल वस्त्र धारण कर एक स्टील की प्लेट लें और उसमें उस स्त्री या पुरुष का नाम कुमकुम से प्लेट में लिख दे अगर चित्र उस समय उपस्थित हो तो चित्र को भी उस प्लेट पर स्थापित करें उसके ऊपर सियार सिंगी रखकर सियार सिंगी पर केसर का तिलक लगाएं चावल चढ़ाएं एवं पुष्प चढ़ाकर मेहदी का इत्र लगाए एवं विधिपूर्वक साधना करते हुए मिठाई का भोग लगाएं तथा साथ में 21 बार मंत्रों का जप करते हुए अपनी इच्छा पूर्ति की भावना लिए हुए पूजा करें यह पूजा आपको नित्य 21 दिन करनी होगी 21 दिन बाद वह व्यक्ति आपके अनुकूल हो जाएगा एवं आपकी सभी इच्छाओं की पूर्ति करेगा।

गीदड़ सिंगी मंत्र

बिस्मिलाहः मेह्मंदः पीर् आवे घोडे की सवारी ,

पवनः  वेग मनः को संभाले,

अनुकूल बनावे , हाँ भरे , कहियो करे ,

मेह्मंदः पीरः की दुहाई ,

शब्द सांचा पिणङ कांचा फुरो मंत्र इश्वरो वाच्

सियार सिंगी वाले सिंदूर से जो भी पुरुष अपनी पत्नी की मांग भरता है या स्त्री अपनी मांग भरने में  सियार सिंगी सिंदूर का प्रयोग करती है  तो उसका पुरुष हमेशा उसके वश में रहता है

–  यदि कोई व्यक्ति प्रेत बाधा या क्रोध से ग्रसित हो तो उसके लिए आपको सियार सिंगी में प्रयोग किए गए चावलों का उपयोग करना चाहिए उसकी सभी बाधाएं समाप्त हो जाती है

सियार सिंगी में प्रयोग किए गए उड़द के दाने  जिस भी घर के दरवाजे में फेंक दिए जाते हैं वह व्यक्ति एवं वह घर कभी आबाद नहीं हो पाता अर्थात  उस व्यक्ति की और उस घर की तरक्की रुक जाती है

अगर किसी व्यक्ति को अपने वश में करके अपना मनचाहा कार्य कराना हो तो सियार सिंगी में उपयोग की गई छोटी इलाइची उस व्यक्ति को खिला दे  वह व्यक्ति वश में जाएगा।

सियार सिंगी जो भी व्यक्ति अपने पास रखता है  उसकी सभी इच्छा पूर्ण हो जाती है  एवं उसके घर में  सकारात्मक शक्तियों का वास होता  है

–   जो भी व्यक्ति  सियार सिंगी जो भी व्यक्ति अपने पास रखता है या व्यापार  क्षेत्र में  उसको स्थापित करता है  उसके व्यापार और नौकरी में हमेशा  बरक्कत और तरक्की होती रहती है

यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में मारकेश की दशा हो अर्थात मृत्यु का दोष हो तो उस व्यक्ति को सियार सिंगी सदैव अपने पास रखना चाहिए  इससे  लाभ होता है  

सियार सिंगी वशीकरण का प्रयोग बहुत ही प्रबल होता है जिसकी पहचान भी तुरंत की जा सकती है और इसके फायदे भी बहुत प्रकार के होते है | सियार सिंगी का प्रयोग कर कोई भी कार्य सिद्ध किया जा सकता है | यदि कोई भी साधक इसका प्रयोग जीवन को सफल बनाने के लिए करना चाहते है तो संपर्क करे और कोई भी कार्य को सफल बनाये |

Our Services

Feedjit Widget