Love Spell Caster: Master of Casting love Spells and Binding Spells

Who is a Love Spell Caster?

A love spell Caster can be an spiritual healer, an astrologer, a tantrik or any spiritual knowledge bearing person. The main thing is that the person should know each and every aspect of lvoe spell and binding spell casting without risk of any harm on any one. One has to be atleast 10 years experiend to be called as a Love Spell caster or Binding Spell Caster.

In what matters a Love Spell Caster or Binding Spell Caster can help you?

Love Spell casting or binding spell casting can provide solution to any relationship problem. Whether you want to make girlfriend or boyfriend, want lost love back, want to maintain the lvoe and respect you are getting from your lover or life partner, want complete control on your husband or wife, Binding your lover or husband or wife to be assured of pure relationship without any cleverness and tricks.

What are the restrictions in taking help of a Love Spell or Binding Spell Caster?

As such there is no hard restrictions, anyone can take help of love spell caster or binding spell caster. The only restriction is that your intentions should not be evil and your focus should only be on maintaining healthy and peaceful relationship.

Tonais the verb of any ritual’s work or a systematic function, in which the higher levels of nature are also collaborative. While tricks have some small or small measures that can be used from time to time. In today’s modern world, some former fatemen are believed that nobody can erase what is written in destiny, and according to our past deeds, what is written in our destiny will remain. Such people are believed to have nothing to do with Tony Tipko, but this is a misconception. But there is such an ideology of such people that if they have done something good with them, they give credit to themselves and if they get bad with them, then they keep on biting their fate.

According to astrology and science, all of us are part of nature and everything is connected to one another. Here is a reaction of every action. Just as the actions of our former karmas have made us today’s destiny, in the same way if some actions are made against them, then you get some results that decrease your expectations. There are many methods in astrology to know about the prashad.

Energy oftonatotka:

It is said that all Brahmand is powered by one power and by the same power control the power of nature on the planets. This power of the universe also pervades all the particles, vegetation, water, life and air, and this power also works in these tone tricks. Tone tricks contain a special combination of the energy of Vaastu, the power of the mental power, the energy of the atmosphere, the special energy generated by the special planet and the energy of the sound etc. Therefore, whenever a person uses the tone tricks, then the person focuses all these energies on one’s goal. The energy of nature in the body of any organism or vegetation resides in the form of its body structure itself. The human body also operates on the same energy. The energy cycle of this energy is determined and fixed. This energy is provided by us, and in this cycle of energy, a person has to fulfill all his karma. In the energy cycle system, energy can be adjusted and changed by using conflicting karmo or technique. If any energy is put into this energy, then this energy can be changed, and if it happens, it will also affect your destiny.

Impact on the aim of energy of sorcery:

When a verb is done with a certain direction, person, time, place, material, deity, spirit and purpose, then a very special and very strong energy emerges, which is also called the collection of all the powers mentioned above. is. In this way, when one power is put on a target, it starts affecting that target energy circuit and joins it. If the nature of this power is positive then it increases the speed of which it is connected to the circuit and gives it new motion and energy. But if the nature of this collection power is negative, then it starts obstructing that circuit. The result is that the person’s actions, thoughts, abilities, thoughts, behavior and physical condition also get affected, and due to the basis of these, only the results of tomorrow, according to the person’s suitable or inappropriate activities, can be found today or Can not meet again The amount of results found on their basis is also affected.

That energy also works in tricks, which is called energy science of nature. That is why Tuna trotco is affected by animal stripe and vegetation etc. The tone also affects the power outflow from tricks and changes the nature of your goal. An example for the mental state of emotion – Think of a person who is driving a car, if he is careless for a second, then his life could be in danger. Many times you may have seen that a right decision of a person makes millions of crores of rupees in his life, but sometimes it happens that a person’s mouth turns out to be a wrong word that leaves his job.
The importance of worshiping Torne Tottko in rituals:

Torne tricks can be used for both good and bad work, depending on the mechanism or the energy science of nature. If you are doing any pooja, sadhana or rituals, then it requires great power and that is why it is used to do sorcery, but if you have to do some small or easy work of nature, only for the moment and the action of waiting Affected, you use the tricks for them.

The effects of non-wrought tonnotes:

Tonnoteko is called energy science, so it works everywhere. If the tone is not annoying, then medicine, remedies, medicines and treatments are of no importance, nor do they develop in the mind of anyone in nature, and their notion is also developed. When the Sage Muni is used to worship the gods and goddesses to please Goddesses, then they use the mechanisms and mantras because they are employed in the energy science of nature and through the same energy, the change can be possible. If the change was not possible and if everything was predetermined then everything would have happened on its own, and such energy would never have been created, nor would the development of the notion of tone tricks have also been developed.

टोना किसी भी अनुष्ठान के कार्य या फिर विधिपूर्वक किये गये कार्य की क्रिया को कहते है, जिनमे प्रकृति की उच्च स्तर की शक्तियां भी सहयोगी होती है. जबकि टोटके कुछ सामान्य या छोटे छोटे उपाय होते है जिनका उपयोग समय समय पर किया जाता रहता है. आज के आधुनिक जगत में कुछ पूर्व भाग्यवादियो का माना होता है कि भाग्य में जो लिखा है उसे कोई नही मिटा सकता और हमारे पूर्व कर्मो के अनुसार हमारे भाग्य में जो लिखा है वो होकर ही रहेगा. ऐसे लोगो का माना होता है कि टोने टोटको से कुछ नही होता, लेकिन ये गलत धारणा है. बल्कि ऐसे लोगो की ऐसी विचारधारा होती है कि अगर इनके साथ कुछ अच्छा हुआ हो तो ये अपने आप को श्रेय देते है और अगर इनके साथ कुछ बुरा हो जाए तो ये लोग अपने भाग्य को कोसते रहते है.

ज्योतिष शास्त्र और विज्ञानं शास्त्र के अनुसार हम सभी प्रकृति के ही हिस्से है और सब कुछ एक दुसरे से जुड़ा हुआ है. यहाँ हर क्रिया की एक प्रतिक्रिया होती है. जिस प्रकार हमारे पूर्व कर्मो की क्रिया की वजह से हमारा आज के प्रारब्ध बना है, उसी प्रकार अगर कुछ क्रियाओ को उनके विपरीत किया जाते तो आपको कुछ ऐसे फल मिलते है जिनसे आपके प्रारब्ध में कमी आती है. प्रारब्ध जानने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कई विधियाँ मिलती है.

टोने टोटको की उर्जा :

कहा जाता है कि समस्त ब्रहमांड एक शक्ति से संचालित होता है और उसी शक्ति से ही ग्रहों पर प्रकृति की शक्ति नियंत्रित होती है. ब्रहमांड की ये शक्ति सभी कण, वनस्पति, जल, जीव और वायु में भी व्याप्त होती है, साथ ही यही शक्ति इन टोन टोटको में भी कार्य करती है. टोन टोटको में वास्तु की उर्जा का, मानसिक शक्ति की उर्जा का, वातावरण की उर्जा का, विशेष ग्रह की स्थिति से उत्पन्न विशेष उर्जा का और ध्वनी की उर्जा आदि का विशेष संयोजन होता है. इसलिए जब भी कोई व्यक्ति टोन टोटको का प्रयोग करता है तो वो व्यक्ति इन सभी उर्जाओ को एक करके अपने लक्ष्य पर ध्यान केन्द्रित करता है. किसी भी जीव या वनस्पति के शरीर में प्रकृति की उर्जा उसके शरीर की संरचना के रूप में ही उसमे वास करती है. मनुष्य शरीर भी उसी उर्जा पर ही संचालित होता है. इस उर्जा का उर्जा चक्र निर्धारित और निश्चित होता है. ये उर्जा प्रकृति ने हमे प्रदान की है, और इसी उर्जा के चक्र में ही एक मनुष्य को अपने सभी कर्मो को पूर्ण करना होता है. उर्जा चक्र की व्यवस्था में संघर्षशील कर्मो से या फिर तकनीक के इस्तेमाल से उर्जा को व्यवस्थित किया और बदला जा सकता है. अगर इस उर्जा में किसी दूसरी उर्जा को डाल दिया जाए तो इस उर्जा की व्यवस्था को बदला जा सकता है, ऐसा होने पर आपका प्रारब्ध भी प्रभावित होता है.

टोने टोटके की उर्जा का लक्ष्य पर प्रभाव :

एक निश्चित दिशा, व्यक्ति, समय, स्थान, सामग्री, देवता, भाव और उद्देश्य के साथ जब कोई क्रिया की जाती है तो उससे एक बहुत ही विशेष और बहुत ही तेज उर्जा निकलती है जिसे ऊपर बताई सभी तरह की शक्तियों का संग्रह भी कहा जाता है. इस तरह से एक की गई इस शक्ति को जब किसी लक्ष्य पर डाला जाता है तो ये उस लक्ष्य उर्जा परिपथ को प्रभावित करने लगती है और उससे जुड़ जाती है. अगर इस शक्ति की प्रकृति सकारात्मक है तो ये जिस लक्ष्य परिपथ से जुडी है उसकी गति को बढ़ा देती है और उसे नयी गति और उर्जा प्रदान करती है. किन्तु अगर इस संग्रह शक्ति की प्रकृति नकारात्मक है तो ये उस परिपथ को बाधित करने लगती है. इसका परिणाम ये होता है कि व्यक्ति के कर्म, सोच, क्षमता, विचार, व्यव्हार और शारीरिक स्थिति भी प्रभावित होने लगती है और इन्ही के आधार के फलस्वरूप ही व्यक्ति के उपयुक्त या अनुपयुक्त कर्मो के अनुसार ही कल मिलने वाले परिणाम आज मिल सकते है या फिर नही मिल सकते. इनके आधार पर मिलने वाले परिणामो की मात्रा भी प्रभावित हो जाती है.

यही उर्जा टोने टोटके में भी काम करती है, जिसे प्रकृति का उर्जा विज्ञानं कहा जाता है. इसीलिए टोने टोटको से जीव धारी और वनस्पति आदि प्रभावित हो जाते है. टोन टोटके से निकलने वाली उर्जा लक्ष्य को भी प्रभावित करती है और आपके लक्ष्य की प्रकृति बदल देती है. उर्जा प्रणाली से उत्तपन मानसिक स्थिति के लिए कुछ उदहारण – सोचो कि एक व्यक्ति जो गाडी चला रहा हो, अगर वो एक सेकंड के लिए भी लापरवाही करता है तो उसकी जान को खतरा हो सकता है. कई बार आपने देखा होगा कि किसी व्यक्ति का एक सही निर्णय उसकी जिंदगी में लाखो – करोडो का लाभ करा देता है, किन्तु कई बार ऐसा भी होता है कि किसी व्यक्ति के मुहं निकला एक गलत शब्द उसकी नौकरी को छुडवा देता है

टोने टोटको का पूजा अनुष्ठान में महत्व :

तंत्र या प्रकृति के उर्जा विज्ञानं के आधार पर टोने टोटको का उपयोग अच्छे और बुरे दोनों कामो के लिए किया जा सकता है. अगर आप कोई पूजा, साधना या फिर अनुष्ठान कर रहे हो तो उसमे बड़ी शक्तियों की आवश्कता होती है और इसीलिए इनमे टोने का इस्तेमाल होता है किन्तु अगर आपको प्रकृति का कोई छोटा या आसान काम करना है जो सिर्फ क्षण और प्रतिक्षण की क्रिया के लिए ही प्रभावित हो तो आप उनके लिए टोटको का उपयोग करते हो.

टोने टोटको के न होने के प्रभाव :

टोने टोटको को उर्जा विज्ञानं कहा जाता है इसीलिए यह हर जगह काम करते है. अगर टोन टोटके नही होते तो चिकित्सा, उपाय, औषधि और उपचार का भी कोई महत्व नही रहता और न ये प्रकृति में किसी के भी मस्तिष्क में ही उत्पन्न होते, साथ ही इनकी धारणा भी विकसित नही हुई होती. ऋषि मुनि जब देवी देवताओ को प्रसन्न करने के लिए पूजा या अनुष्ठान करते वक़्त तंत्रों और मंत्रो का इस्तेमाल इसीलिए करते है क्योकि इनमें प्रकृति का उर्जा विज्ञानं कार्यरत होता है और इन्ही की उर्जा के द्वारा ही परिवर्तन संभव हो सकता है. अगर परिवर्तन ही संभव नही होता और सब कुछ पूर्व निश्चित ही होता तो सब कुछ अपने आप ही होता रहता और ऐसी उर्जा भी कभी उत्पन्न ही नही होती और न ही टोन टोटके के धारणा का ही विकास हुआ होता.

Our Services

Feedjit Widget